जम्मू कश्मीर के पुलवामा के त्राल इलाके में सेना ने बुधवार को तीन आंतकियो को ढेर कर दिया. सेना ने पूरे इलाके को घेर लिया था. कश्मीर के आईजी मुनीर खान ने कहा, “मारे गए आतंकी अलकायदा के जाकिर मूसा ग्रुप के हैं ,मूसा ने कुछ फोटोग्राफ्स रिलीज किए थे, मारे गए आतंकी उस तस्वीर में नजर आए थे और वो मूसा के ग्रुप के हैं.” आपको बता दें कि हिज्बुल मुजाहिदीन छोड़ने के बाद अलकायदा ने मूसा को भारत का हेड बना दिया था.

Image result for हिज्बुल मुजाहिदीन

IG खान ने बताया कि “जैसे ही हमे आंतकियों के छिपे होने कि खबर मिली तभी हमने एक्शन लेते हुए सिक्युरिटी फोर्सेस, स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) और कश्मीर पुलिस ने ज्वाइंट ऑपरेशन चलाया.

जब सेना द्वारा पूरे इलाके को घेर लिया गया तो आंतकियों ने ऑटोमैटिक हथियारों से पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसके बाद सेना ने पूरे ऑपरेशन की कमान संभाल लिया और उसी दौरान आंतकी मारे गए. हमने उनकी बॉडी रिकवर कर ली है. इसके अलावा दो एके-47 और एक पिस्टल अभी बरामद की गई है.”

आर्मी ने बताया कि घनी झाड़ियों का फायदा उठाकर माछिल सेक्टर में 5 आतंकियों ने घुसपैठ की कोशिश की थी. जिसके बाद भारतीय सेना ने सर्च ऑपरेशन चलाया था और 5 आतंकियों को मार गिराया. आर्मी ने बताया कि आंतकियो के पास चीन और पाकिस्तान के बने हथियार बरामद हुए.

Image result for आईजी मुनीर खान

ऑपरेशन के हेड कमांडर R.K सुरेश ने कहा, “इन आतंकियों के पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद मिला है, यह चीन और पाकिस्तान के हथियार के अलावा इन आतंकियों के पास से PAK  से लाया राशन और दवाइयां भी मिली हैं.”

आर्मी अफसर ने बताया कि जवान एलओसी पर पेट्रोलिंग कर रहे थे तभी उन्होंने देखा कि POK कि तरफ से एक आंतकी ग्रुप भारतीय सेना में घुसने की कोशिश कर रहा था. जिसके बाद जवानो ने उन्हें सरेंडर करने को कहा लेकिन आंतकियों ने जवानो पर गोलीबारी शुरू कर दी. . काफी देर बाद जवानों ने पांच आतंकियों को मार गिराया ”. हालांकि, ये पता नहीं चल सका कि इस ग्रुप में कितने आतंकी शामिल थे.

कश्मीर एनकाउंटर में 3 टेररिस्ट ढेर, अलकायदा के जाकिर मूसा ग्रुप से जुड़े थे, national news in hindi, national news

2 अगस्त 2017, को  आतंकवाद पर होम मिनिस्ट्री की चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई थी. रिपोर्ट के अनुसार, कश्मीर में पिछले 7  महीने में हर दिन आंतकी वारदात हुई है. रिपोर्ट में कहा गया कि 7 महीनों में मारे जाने वाले आतंकियों की तादाद 109 है, जो कि अभी तक की सबसे ज्यादा है.  इससे पहले 2016 में 150 आतंकी मारे गए थे, लेकिन ये आंकड़ा पूरे साल का था.